सावधान: फिर डराने लग गया है कोरोना

मुख्यमंत्रियों से संवाद : प्रधानमंत्री ने कहा-यूरोपीय देशों में हालात गंभीर हो रहे, बच्चों को जल्द टीका लगवाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि पिछले दो हफ्तों में कुछ राज्यों में कोरोना के मामले बढ़े हैं। इससे स्पष्ट है कि संक्रमण का खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है। ऐसे में सभी राज्यों को सतर्क रहने की जरूरत है। सरकार की प्राथमिकता सभी पात्र बच्चों का जल्द टीकाकरण करना है। इसके लिए स्कूलों में विशेष मुहिम चलाई जानी चाहिए।

यूरोपीय देशों से सबक लें : वीडियो कांफ्रेंस के जरिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्यों की सहभागिता से देश ने पहले भी कोरोना महामारी पर नियंत्रण पाया है। कुछ महीनों में दुनिया के कई देशों में कोरोना के विभिन्न स्वरूपों की वजह से स्थिति बिगड़ी है, मगर भारत इनकी तुलना में बेहतर तरीके से निपटने में सफल रहा है। ओमीक्रोन और उसके सब वेरिएंट्स किस तरह गंभीर परिस्थिति पैदा कर सकते हैं, यह यूरोपीय देशों में हम देख सकते हैं।

अभिभावक चिंतित न हों: प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण की भूमिका बेहद अहम है। देश में लंबे समय के बाद स्कूल खुले हैं और एक बार फिर संक्रमण के बढ़ते मामलों ने परिजनों की चिंता बढ़ा दी है। कुछ स्कूलों में बच्चों के संक्रमित होने के मामलों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि अभिभावकों को चिंतित होने की जरूरत नहीं है। उन्हें अपने बच्चों का जल्द टीकाकरण कराना चाहिए। स्कूली शिक्षकों को भी जागरूक रहना होगा।

हालात पर सरकार और विशेषज्ञों की नजर: मोदी ने कहा, देश में कोरोना की स्थिति पर सरकार और विशेषज्ञ लगातार निगरानी रख रहे हैं। संक्रमण को शुरुआत में ही रोकना प्राथमिकता पहले भी थी और आज भी है। उन्होंने मुख्यमंत्रियों को कोरोना जांच और उपचार की रणनीति को प्रभावी तरीके से लागू करने का सुझाव दिया। बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *