परीक्षा होने से पहले ही उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की यह भर्ती विवादों में

उत्तराखंड में परीक्षा हो या न हो लेकिन परीक्षा से पहले और परीक्षा के बाद हंगामा मचना तय रहता है। कभी पेपर लीक  , कभी कोर्ट का आदेश, कभी फर्जीवाड़ा तो कभी अभ्यर्थियों का ही हंगामा सारे किए कराए का गुड़ गोबर कर देता है। इसमें पिसता कौन है? पिसता है वो बेरोजगार युवा, जो कई सालों से एक अदद नौकरी की तलाश में अपने दिन रात एक कर रहा है। जरा सोचिए उस बेरोजगार के सपनों पर कैसा कुठाराघात होता होगा। अब उत्तराखंड में एक और परीक्षा संदेह के घेरे में आ गई है। इस बार उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित की जा रही सहायक अभियोजन अधिकारी यानी APO की परीक्षा में बड़े फर्जीवाड़े का शक है।  मुताबिक कुछ अभ्यर्थियों को वाट्सएप पर पेपर लीक के संदेश मिले हैं। खबर के मुताबिक संदेश भेजने वाले ने बताया कि उसके पास परीक्षा के पेपर हैं। इसके अलावा इसमें पेपर प्राप्त करने के लिए एक लिंक भी दिया जा रहा है। अब तक ये संदेश कितने अभ्यर्थियों को भेजा गया? इस बात का अभी तक पता नहीं चला है। आगे पढ़िएखबर है कि कुछ अभ्यर्थियों ने इस संबंध में आयोग में शिकायत की है। फिलहाल आयोग मामले की जांच की बात कह रहा है। उधर एसटीएफ को इस बात की शिकायत मिली, तो जांच शुरू कर दी गई है। आपको बता दें कि उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने सहायक अभियोजन अधिकारी के लिए 63 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञप्ति जारी की थी। इसकी प्रारंभिक परीक्षा 21 नवंबर को होनी है। अब इस परीक्षा से पहले ही सवाल उठने शुरू हो गए हैं। खबर है कि पिछले दिनों कुछ अभ्यर्थियों को वॉट्सएप पर अलग-अलग नंबर से संदेश मिल रहे हैं। इन संदेशों में पेपर लीक की बात कही जा रही है। मैसेज में यहां तक कहा जा रहा है कि परीक्षा से 3 दिन पहले पेपर उपलब्ध करा दिया जाएगा। इसकी एवज में 30 हजार रुपये की मांग की जा रही है। पेपर  लेने के लिए जो लिंक दिया गया है, इसे लेकर साइबर क्राइम का भी अंदेशा लगाया जा रहा है। एसटीएफ मामले की जांच कर रही है। अभ्यर्थियों से भी अपील है कि वह किसी तरह के झांसे में न आएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *